डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम (Avul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam ) का जन्म 15 October 1931 को तमिलनाडु के Rameswaram में हुआ । इन्होंने 1960 में Madras Institute of Technology से एरोस्पेस इंजीनियरिंग में पढ़ाई की । इंजीनियर बनने के बाद डॉ. कलाम का Defence Research and Development Organisation (DRDO) में सिलेक्शन हो गया । वहाँ सेवा करने के पश्चात Indian Space Research Organisation (ISRO) में भी इन्होंने सेवा दी ।
इन्होंने DRDO में रहते हुए देश को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिये मिसाइलों का निर्माण किया जिनकी वजह से इन्हें ” मिसाइल मैन ” नाम दिया गया ।

फिर 1998 में पोखरण में किये गए परमाणु परीक्षण में भी इनका महत्वपूर्ण योगदान रहा । 25 जुलाई 2002 को डॉ. कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति चुने गए । इस पद पर इन्होंने 25 जुलाई 2007 तक सेवा दी । इस दौरान डॉ. कलाम ने राष्ट्रपति भवन को आम लोगों का भवन बनाया ।
27 जुलाई 2015 को Indian Institute of Management, Shillong में लेक्चरर के दौरान Cardiac Arrest की वजह से 83 वर्ष की उम्र में निधन हो गया । एक शिक्षक के लिये अंतिम पल भी यदि पढ़ाते हुए बीते तो यह उसके लिये सौभाग्य की बात है ।

डॉ. कलाम को जीवन मे 40 यूनिवर्सिटी की तरफ से 7 डॉक्टरेट की मानद उपाधियां दी गयी । इसके अलावा इन्हें निम्न सम्मान भी प्राप्त हुए :-
1. 1997 में भारत रत्न से सम्मानित ।
2. 1981 में पद्म भूषण अवार्ड ।
3. 1982 में अन्ना यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्टर की उपाधि से सम्मानित किया ।
4. 1990 में पद्म विभूषण अवार्ड ।
5. 1999 में डॉ. कलाम भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार बने ।
6. 1962 में”भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) से जुड़े ।
7. 2002 में राष्ट्रपति बने ।

इसके अलावा डॉ. कलाम ने बहुत सारी किताबें भी लिखी, जो निम्न है –
1. India 2020: A Vision for the New Millennium
2. A Manifesto for Change: A Sequel to India 2020,
3. Wings of Fire: An Autobiography
4. The Luminous Sparks
5. Mission India, Inspiring Thoughts
6. Indomitable Spirit,
7.Envisioning an Empowered Nation
8. You Are Born To Blossom : Take My Journey Beyond
9. Turning Points: A journey through challenges
10. Target 3 Billion
11. My Journey : Transforming Dreams into Actions
12. Forge your Future : Candid, Forthright, Inspiring
13. Reignited: Scientific Pathways to a Brighter Future
14. Transcendence: My Spiritual Experiences with Pramukh Swamiji
15. Advantage India: From Challenge to Opportunity

पूर्व प्रथम नागरिक, भारत रत्न, पद्म विभूषण, वैज्ञानिक, मिसाइलमैन, शिक्षक, बच्चों के प्रिय नेता डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को उनकी पुण्यतिथि पर शत् शत् नमन #RIPkalam