नई दिल्ली.उत्तर प्रदेश में रविवार शाम को समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का एलान किया गया। समाजवादी पार्टी 298 सीटों पर जबकि कांग्रेस 105 सीट पर ही इलेक्शन लड़ेगी। दोनों दलों ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। पहले सपा से कांग्रेस 110 से 120 सीट मांग रही थी लेकिन इतनी बात नहीं बनी और कांग्रेस को केवल 105 सीट मिली है।

अखिलेश फिर बनेंगे सीएम…
-समाजवादी पार्टी के स्टेट चीफ नरेश उत्तम और कांग्रेस के स्टेट चीफ राज बब्बर ने गठबंधन का एलान किया।
-नरेश उत्तम ने कहा,”धर्मनिरपेक्षता के लिए कांग्रेस के साथ ये गठबंधन किया गया है। हम विकास की धारा को आगे बढ़ाना चाहते हैं।”
-“अखिलेश यादव को फिर से सीएम बनायेंगे। हम साम्प्रदायिक शक्तियों बीजेपी और बसपा को चुनाव में हराने के लिए साथ आए हैं।”
-“हम 403 सीटों पर गठबंधन कर चुनाव लड़ेंगे। 298 सीटों पर सपा और 105 सीटों पर कांग्रेस अपने उम्मीदवार उतारेगी।”
-राज बब्‍बर ने कहा,”हमारा गठबंधन सीएम अखिलेश यादव के रचनात्‍मक कार्यों पर खड़ा है।”
-“बीजेपी सरकार की किसान विरोधी नीतियों ने किसानों को नुकसान पहुंचाया है। गठबंधन किसानों को न्‍याय और उनका हक दिलाने का काम करेगा।”

सोनिया ने अखिलेश को किया था फोन
-शनिवार को दिनभर की ऊहापोह के बाद देर रात सोनिया गांधी ने अखिलेश को फोन किया था।
-सपा के नेता किरनमय नंदा ने रविवार को कहा,”कांग्रेस 105 सीट पर चुनाव लड़ेगी। इन सभी सीटों पर सपा अपने कैंडिडेट्स नहीं उतारेगी।”

प्रियंका ने भी की कोशिशें
-कांग्रेस के वरिस्ट नेता अहमद पटेल ने कहा कि सपा के साथ गठबंधन को लेकर प्रियंका गांधी ने भी कोशिशें कीं।
-कांग्रेस के स्ट्रैटजिस्ट प्रशांत किशोर और अखिलेश यादव के बीच भी मीटिंग हुई।

गठबंधन को लेकर क्यों थी तनातनी?
1#.150 सीटों का वादा कर 100 तक पहुंचे अखिलेश
-सूत्रों के मुताबिक,सपा में विवाद के वक्त अखिलेश ने कांग्रेस को 150 सीटें देने का भरोसा दिया था। लेकिन सपा और साइकिल मिलने के बाद मजबूरी का हवाला देकर 121 सीटें ऑफर कीं।
-कांग्रेस इस पर राजी हुई तो अखिलेश 100 पर पहुंच गए। अखिलेश ने कहा कि नेताजी के कुछ लोग एडजस्ट करने हैं।
-कुछ पुराने और आजम खान जैसे नेताओं से सीटों की मांग आ गई है। ऐसे में वह 100 से ज्यादा सीटें नहीं दे पाएंगे।

2#.अपने गढ़ में कांग्रेस चाहती थी सीटें
-सोर्सेज की मानें तो कांग्रेस अपना गढ़ रहे अमेठी,रायबरेली और सुल्तानपुर जिलों की 15 सीट मांग रही थी।
-2012 में इन तीन जिलों में 15 सीटों पर 12 पर सपा ने जीत दर्ज की थी और कांग्रेस को 2 सीट और पीस पार्टी को 1 सीट मिली थी।

3#.5 सीटों का अखिलेश ने और दिया था ऑफर
-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,गठबंधन को बचाने के लिए प्रियंका गांधी ने अपने भरोसेमंद धीरज को 20 जनवरी की देर रात दिल्ली से लखनऊ भेजा था।
-धीरज लखनऊ के एक होटल में रुके थे। वह यहां सिर्फ अखिलेश यादव से मिलने आए थे।
-सूत्रों के मुताबिक,अखिलेश ने शनिवार दोपहर धीरज से बात की,साथ ही 5 अौर सीटें ऑफर की।
-इसके बाद दिल्ली में गठबंधन को लेकर राहुल और सोनिया ने यूपी के नेताओं के साथ बैठक की।

4#.पहले सपा ने कहा था-80 से 85 सीटें देंगे
-सपा नेता किरणमय नंदा ने शुक्रवार को दिल्ली में कहा था,”गठबंधन के लिए हम लोग तैयार हैं। जहां पर हम चौथे नंबर पर हैं,वहां कांग्रेस लड़ेगी।”
-“हालांकि,अभी तक कांग्रेस की ओर से पॉजिटिव रिस्‍पॉन्स नहीं मिला है। हमारा नारा नेताजी का नाम,अखिलेश का काम होगा।”
-“अमेठी की सीट सपा के ही पास रहेगी। हम कांग्रेस को 84-85 सीट दे सकते हैं।”

Author: Harlal

News Reporters in Rajasthan