चंडीगढ़
कैप्टेन अमरिंदर दो जगह से चुनाव लड़ रहे हैं . बेशक वे लोगो के साथ रहने की बात कर रहे है लेकिन आम आदमी पार्टी ने सवाल किया है कि चुनाव के बाद बे लम्बी में रहेगे या पटियाला में.आम आदमी पार्टी (आप) ने आज पंजाब के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और कांग्रेस पार्टी के सीएम उम्मीदवार को लंबी और पटियाला के निर्दोष लोगों को अपनी आखिरी सांस तक उन लोगों के साथ जीने की बात करके गुमराह नहीं करने का सुझाव दिया है .
एक ब्यान में आम आदमी पार्टी के पंजाब राज्य संयोजक गुरप्रीत सिंह वड़ैच ने कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह स्पष्ट कर दें कि चुनावों के बाद वह अपने परिवार के साथ पटियाला, बादल परिवार के साथ लंबी या लाहौर में जहां उनकी आत्मा मौजूद है, कहां रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कल लंबी और पटियाला में अपनी चुनावी बैठकों में दोनों विधानसभा क्षेत्रों के लोगों को बेवकूफ बनाया भले ही वह दोनों स्थानों पर नहीं रहने वाले हैं।

वड़ैच ने पटियाला और लंबी के लोगों को आगाह किया है कि वे कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपना वोट देकर इसे बर्बाद नहीं करें अन्यथा उनके पास जीवनभर लिए पश्चाताप के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं होगा। यह कैप्टन अमरिंदर सिंह का आखरी चुनाव है और वह वोट के लिए अगली बार नहीं आएंगे। वड़ैच ने कहा कि 2012 में कैप्टन ने पटियाला सीट से चुनाव जीता था और उनके गृह क्षेत्र में विधायक लापता का पोस्टर देखा गया था। कैप्टन ने अमृतसर से लोकसभा चुनाव लडऩे के लिए दो साल के बाद इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अमृतसर के लोगों को कहा था कि वह उनकी सेवा करने के लिए अपने जीवन का बाकी समय अमृतसर में बिताएंगे। अब उन्होंने पटियाला से लडऩे के लिए लोकसभा सीट पटियाला को छोड़ दिया है।

वड़ैच ने पटियाला और लंबी के लोगों को आगाह किया है कि वे कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपना वोट देकर इसे बर्बाद नहीं करें अन्यथा उनके पास जीवनभर लिए पश्चाताप के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं होगा। यह कैप्टन अमरिंदर सिंह का आखरी चुनाव है और वह वोट के लिए अगली बार नहीं आएंगे। वड़ैच ने कहा कि 2012 में कैप्टन ने पटियाला सीट से चुनाव जीता था और उनके गृह क्षेत्र में विधायक लापता का पोस्टर देखा गया था। कैप्टन ने अमृतसर से लोकसभा चुनाव लडऩे के लिए दो साल के बाद इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अमृतसर के लोगों को कहा था कि वह उनकी सेवा करने के लिए अपने जीवन का बाकी समय अमृतसर में बिताएंगे। अब उन्होंने पटियाला से लडऩे के लिए लोकसभा सीट पटियाला को छोड़ दिया है।
वड़ैच ने कहा कि कोई भी व्यक्ति कैप्टन अमरिंदर सिंह पर भरोसा कैसे कर सकता है जिनका दल और सीटें बदलने का इतिहास रहा है। वह कांग्रेसी पैदा हुआ था, फिर युवा अकाली बना और अन्त में एक कांग्रेसी रहा। उन्होंने अपनी खुद की पार्टी को ही अस्थायी करने का फैसला कर लिया था जब कांग्रेस हाई कमांड ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में उनकी जगह प्रताप सिंह बाजवा को दे दी थी।
वड़ैच ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर किसी भी मुद्दे पर गंभीर नहीं है और राज्य के लोगों की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार है।
AapPunjab Congress Captin SAD

Author: Harlal

News Reporters in Rajasthan